WhatsApp Image 2017-07-26 at 20.26.12

गोरेगाँव मुम्बई में मनोहारी मंडल जी की रचना..
तपोभूमि प्रणेता मुनिश्री प्रज्ञा सागर जी महाराज के सानिध्य में प्रतिदिन गोरेगाँव वेस्ट मुम्बई स्थित श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में मनाया जा रहा पाँच दिवसीय

“श्री पार्श्वनाथ महोत्सव” 

जिसमे प्रतिदिन नए नए विधान का भव्य आयोजन किया जा रहा है….
अब तक भक्तामर विधान,पंच परमेष्ठी विधान,कल्याण मंदिर विधान का आयोजन किया जा चुका है…
27 जुलाई को “श्री शांतिनाथ विधान” का आयोजन किया जा रहा है…इसी श्रृंखला में …
28 जुलाई को श्री सम्मेद शिखर विधान का भव्य आयोजन किया जायेगा….जिसके लिए मनोहारी विशाल मंडल जी बनाया जायेगा…भक्त गण मंडल में सभी टोंको के दर्शन कर सकेंगे…और इसी टोंको पर आगामी.. 29 जुलाई को भगवान पार्श्वनाथ जी के निर्वाण महोत्सव के साथ श्रीजी के चरणों में… 23कि.ग्रा.का विशाल निर्वाण लाडू समर्पित किया जायेगा
गोरेगाँव मुम्बई में पधार कर पुण्यार्जन करे…
जय सांवलिया पारसनाथ की…

गोमटेश्वर बाहुबली… की अमर गाथा…

पहली बार दिगम्बर जैन संत के मुखारविंद से मुम्बई महाराष्ट्र की पावन धरा में तपोभूमि प्रणेता मुनिश्री प्रज्ञा सागर जी महाराज के द्वारा आओ सुने इस सदी के सबसे बड़े महाकुंभ श्रवणबेलगोला गोमटेश्वर बाहुबली महामस्तकाभिषेक 2018
के महानायक महामना भगवान श्री बाहुबली की अमर कथा…सुनने के लिए जरूर पधारे…
श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर , गोरेगाँव वेस्ट ,मुम्बई महाराष्ट्र में..आना ना भूले…प्रतिदिन..सुबह -8:30 बजे से…

19787075_1902284673364345_3550541667276319909_o

!! अनोखा मानस्तम्भ परमेष्ठी कलश !!

हर वर्ष की तरह…इस वर्ष भी होगा  तपोभूमि प्रणेता के चातुर्मास का अनोखा मँगल कलश…
इस बार.. मानस्तम्भ परमेष्ठी कलश की होगी…मुम्बई गोरेगाँव (वेस्ट) में.. स्थापना..
इस अनोखे कलश में है अनेकों खूबियाँ…
- स्वर्ण एवं चाँदी युक्त इस कलश में परमेष्ठी के प्रतीक पांच कलश है…चार कलशों को रजतमय चार हाथीयों ने अपने ऊपर विराजमान कर रखा है और ठीक चार कलशों के ऊपर चार इंद्रों द्वारा मनमोहक छतरी नुमा वेदी मे मुख्य कलश को विराजमान किया गया है…
- जयपुर के कारीगरों द्वारा इसे बहुत ही कम समय में बनाया गया है…
- इसके अलावा इस कलश को बनाने में शुद्ध चाँदी का उपयोग किया गया है…
- तपोभूमि प्रणेता मुनिश्री प्रज्ञा सागर जी महाराज द्वारा स्थापित किया जाने वाला ये कलश अदभुत चमत्कारिक बीजाक्षरों से युक्त अनेकों मंत्रों ,यंत्रों से युक्त है…इसके पत्तियों तक में यंत्र एवं मंत्रो को अंकित किया गया है जो सुख समृद्धि ऐश्वर्य वैभव वर्धक है…
- मंगलकारी इस मँगल कलश की 9 जुलाई को भव्य कलश स्थापना समारोह में भाग्यशाली परिवार द्वारा स्थापित किया जायेगा… जिसके समक्ष लाखों करोड़ों जाप्य एवं हवन द्वारा आहुतियाँ दी जाएंगी…
- इसके साथ ही चार और मंगल कलशों की भी स्थापना की जायेगी..वह अति मनोहारी कलाकृति युक्त है…
- मुम्बई के पहली बार चातुर्मास करने जा रहे युवा सन्त मुनि श्री प्रज्ञा सागर जी महाराज देश में पहली बार इस अदभुत अनोखे कलश की स्थापना करने जा रहे है…
उल्लेखनीय है कि इस तरह के अनोखे कलशों की स्थापना करने की प्रेरणा मुनिश्री ने ही प्रारम्भ की थी वर्ष 2009 जयपुर चातुर्मास से…तब से अब तक अनेकों अदभुत अनूठे कलशों की स्थापना की जा चुकी है..आज यदि पूरे देश में …मनोहारी हाथियों पर कलश की स्थापना एवं स्वर्ण कमल पर कलश , कभी मोर पर कभी हंसों पर..कभी गजरथ पर कभी नवग्रह कलश तो कभी *शुद्ध स्वर्ण से बने कलश ..
- अनेको तरीको से बने सुंदर कलश की रचना की जा रही है वो मुनि श्री की अनुपम प्रेरणा का ही नतीजा है…
इस बार आप सभी मुंबई गोरेगाँव वेस्ट जवाहर नगर में होने जा रहे मुनिश्री के 29 वे चातुर्मास कलश स्थापना में आकर एक बार इस अनोखे कलश के दर्शन जरूर करे..

WhatsApp Image 2017-07-06 at 20.05.13
deee74d6-4aa6-4c53-b6c3-8b79ceefc46b

आज 19-06-2017 मुनि श्री प्रज्ञा सागर जी महाराज के सानिध्य में ..
आगामी 9 जुलाई से प्रारंभ होने जा रहे..
तपोभूमि प्रणेता के 29वें मुम्बई चातुर्मास की ..
आमंत्रण पत्रिका का विमोचन किया गया…
2 जुलाई को भव्य गोरेगाँव मुम्बई मँगल प्रवेश
9 जुलाई रविवार को सुबह 8 बजे से…
गुरु पूर्णिमा महोत्सव
एवं दोपहर 1 बजे से…
देश में पहली बार स्थापित होने जा रहा है…
चातुर्मास परमेष्ठी कलश स्थापना
आप सभी सविनय सादर आमंत्रित है…