गजरथ कलश की स्वर्णिम आभा से दमक उठा आदीश्वर धाम चाकसू…

देश में पहली बार स्थापित हुए चातुर्मास गजरथ कलश की स्थापना में उमड़ा अपार जन समूह…तपोभूमि प्रणेता एवं आदीश्वर धाम प्रणेता मुनिश्री प्रज्ञा सागर जी महाराज के सानिध्य में देश के सबसे विशाल और अदभुत मनमोहक राजसी ठाट बाट लिए गजरथ कलश स्थापना महोत्सव में देश के कोने कोने से भक्तो ने शिरकत की…चार मयूर कलश और तीन गुरु चरण की स्थापना के साथ प्रारंभ हुआ चातुर्मास..आप भी इस चातुर्मास का हिस्सा बने और एक बार इस अदभुत गजरथ कलश के दर्शन करने आदीश्वर धाम चाकसू एक बार जरुर पधारे…

आदीश्वर धाम चाकसू हुआ गजरथ कलश की स्वर्णिमा से रोशन…देश में पहली बार हुए गजरथ कलश की स्थापना के साथ प्रारंभ हुआ तपोभूमि प्रणेता का 27 वाँ चातुर्मास …परम गुरु भक्त समाज सेवी श्री सुभाष जी मनोरमा जी पाटनी जवाहर नगर जयपुर निवासी द्वारा की गयी चातुर्मास मुख्य कलश की स्थापना का परम सौभाग्य…आदिश्वर धाम अतिशय क्षेत्र का मंगल गजरथ कलश पहुंचेगा गुलाबी नगरी जयपुर..पाटनी ग्रुप के श्री सुभाष जी पाटनी का आदीश्वर धाम परिवार अभिनन्दन कर गौरवान्वित है….पूज्य गुरुदेव श्री प्रज्ञा सागर जी महाराज के इस मंगलमय चातुर्मास का हिस्सा बनने के लिए एक बार आदीश्वर धाम जरुर आये…

atishay

स्वन्त्रता दिवस

आज़ादी की खुशियाँ पूरा देश मनाने वाला है …हम भी मनाने वाले है…पर इस बार आज़ादी का उत्सव मनेगा कुछ अलग अंदाज़ में…हम आपको बुला रहे है..एक दिगंबर जैन संत के सानिध्य में …स्वतन्त्रता दिवस की यादे ताज़ा करने के लिए..जो सैनिक सिपाही…आज भी बॉर्डर पर तैनात है हमारी सुरक्षा के लिए ..उनकी हिम्मत को बनाये रखने के लिए इस बार का 15 अगस्त होगा सरहद पर खड़े सिपाहियों के नाम…और हाँ इस बार पहली बार ऐसा होगा जब तपोभूमि प्रणेता के सानिध्य में भारत माँ की होगी 69 दीपों से महाआरती …और आदीश्वर धाम चाकसू जैन मंदिर की प्राचीर में लहरायेगा तिरंगा…णमोकार के साथ गूंजेगा…राष्ट्रगीत..और मुनिश्री देंगे राष्ट्र के नाम सन्देश …तो आना ना भूले …अपना एक दिन देश के नाम कर दो…

विमोचन….सारे जहाँ से अच्छा….
तपोभूमि प्रणेता की एक अनुपम किताब…
15 अगस्त स्वतन्त्रा दिवस का पावन अवसर…और तपोभूमि प्रणेता का सानिध्य …जैन तीर्थ की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वजारोहण….राष्ट्रगान…और राष्ट्र के नाम जैन मुनि प्रज्ञा सागर जी महाराज का सन्देश…और इन्ही सब के बीच में होगा पूज्य गुरुदेव की एक अनोखी किताब का भव्य विमोचन…जिसका सौभाग्य पाया है परम गुरु भक्त श्री महेंद्र जी उर्मिला बक्षी परिवार जवाहर नगर जयपुर…
तो आप यदि भारतीय होने पर गर्व महसूस करते है आप सादर आमंत्रित है…आदीश्वर धाम चाकसू में…10:30 बजे 15 अगस्त …जय हिन्द जय भारत…

चाकसू रचेगा एक इतिहास

इतिहास में है की 700 मुनिराजो के उपसर्ग को दूर किया विष्णु कुमार मुनि ने और फिर 700 मुनिराज निकले आहार चर्या के लिए …पर इस बार इतिहास बदल रहा है …इस बार एक मुनि का पड़गाहन करेंगे 700 श्रावक श्रेष्ठीजन…एक साथ मिलके वो भी…24 तीर्थंकरों के आहार प्रदाता परिवार बनकर…सजेंगे 24 द्वार.. प्रथम द्वार राजा श्रेयांस परिवार हस्तिनापुर…इस तरह प्रत्येक द्वार पर प्रत्येक तीर्थंकर के आहार दाता का परिवार…तो आदीश्वर धाम चाकसू कल बनेगा तीर्थंकरों की आहार भूमि…और जब मुनिश्री प्रज्ञा सागर जी निकलेंगे विधि लेकर और नवधा भक्ति से गुजेंगा चारों तरफ ….
हे स्वामी नमोस्तु नमोस्तु
अत्रो अत्रो तिष्ठो तिष्ठो 
ये अदभुत नज़ारा देखने चाकसू जरुर आना …आप सभी… … और आहार के पश्चात् गुरुदेव के मुखारविंद से सुनेंगे”रक्षा बंधन कथा” और मुनिश्री की पवित्र पिछी में राखी बांधने का होगा महामहोत्सव प्रारंभ..साथ ही भगवान आदिनाथ जी की विशाल प्रतिमा के समक्ष समर्पित होगी…मनमोहक अनोखी विशाल राखी..
29 अगस्त सुबह 9 बजे 
इस बार राखी भाई से पहले भगवान के लिए…

11885167_896067920472002_2910036129945019691_n

जैन धर्म के इतिहास में प्रथम बार…
।। पड़गाहन महोत्सव ।।
रक्षा बंधन के अवसर पर आदीश्वर धाम चाकसू में…अनोखा और अदभुत भव्य आयोजन…जो आपने पहले ना देखा ना सुना होगा…700 मुनिराजो पर आये उपसर्ग को दूर करने के लिए विष्णु कुमार मुनि द्वारा की गयी रक्षा की स्मृति में मनाये जाने वाला रक्षा बंधन वात्सल्य पर्व पर पहली बार 700 श्रावक एक साथ मिलकर करेंगे मुनिश्री प्रज्ञा सागर जी महाराज का भव्यातिभव्य पड़गाहन और कौन होगा वो पुण्यशाली भाग्यशाली परिवार जो पायेगा आहार देने का महापुण्य…आना ना भूले और सबको बताना ना भूले…
29 अगस्त 2015 सुबह 9 बजे से…

।। तपोभूमि प्रणेता जन्मोत्सव ।।

10690343_1179932915356831_7899934498772607636_n

!! कृष्ण जन्माष्टमी पर विशेष !!

श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर बोले तपोभूमि प्रणेता…अगर जीवन में कुछ करना है तो दो बातों को याद रखना…जो राम ने किया वो करना और जो कृष्ण ने कहा वो करना…क्यों की कृष्ण ने जो भी किया वो धर्म के अनुसार उस समय जरुरी था…पर अकेले धर्म के लिए रण भूमि में खड़े होकर सिर्फ एक ही श्रोता अर्जुन को गीता का ज्ञान दिया…जो आज सारी दुनियाँ उसे मान रही है..आज सारी दुनियाँ जन्मोत्सव मना रही है मैं तमाम कृष्ण भक्तो से एक बात कहना चाहूँगा…यदि कृष्ण को मानना है तो तीन चीजों को कभी मत भूलना…गाय..गोपी..और गीता…
गाय की रक्षा जीवन पर्यन्त तक करना
कन्या भ्रूण हत्या ना कर गोपी अर्थात कन्या की रक्षा करना
और अंत में गीता का सदा सम्मान करना
-मुनि प्रज्ञा सागर
आदीश्वर धाम चाकसू

कहाँ मिलेंगे हमें विमल पद..कमल सर्व दुखहारा …तपोभूमि प्रणेता मुनिश्री प्रज्ञा सागर जी महाराज आपको आवाज़ दे रहे है…अपने दादा गुरु वात्सल्य रत्नाकर आचार्य श्री विमल सागर जी महाराज के 100 वीं जन्म जयन्ती के अवसर पर आयोजित 
।। शताब्दी महोत्सव ।।
में …आओ अपने समाज जन के साथ अपने परिजन के साथ हम सब मिलके मनाये इस सदी के महान आचार्य वात्सल्य मूर्ति का 100 वां जन्मोत्सव… अतिशय तीर्थ क्षेत्र अक्षयनिधि आदीश्वर धाम चाकसू जहाँ पर 
4 अक्टूबर 2015 को हम मनाएंगे अनोखा महोत्सव…

11856510_892555640823230_2086906392835903387_o

arun

I am text block. Click edit button to change this text.

vaibhav

I am text block. Click edit button to change this text.

chirayu

I am text block. Click edit button to change this text.

  • 1446921154040
  • 1446920502607
  • 1446977966294
  • 1446977958439
  • 1446977953971
  • 1446977949202